8 बॉलीवुड के अभिनेता जिन्होंने राजनीति की ओर रुख किया

Advertisements

8 बॉलीवुड के अभिनेता जिन्होंने बॉलीवुड के बाद राजनीति की पिच पर भी जबरदस्त बैटिंग की और जिन लोगों ने राजनीति को एक नई दशा और दिशा दी है आज हम उनके बारे में जानेंगे।


धर्मेंद्र

बॉलीवुड के हीमैन धर्मेंद्र ने 2004 में राजनीति में एंट्री की थी वह बीकानेर राजस्थान से संसद सदस्य चुने गए थे । फिल्मो में एक्टिंग के अलावा धर्मेंद्र ने पॉलिटिक्स में भी जबरदस्त भूमिका निभाई है ।

हालांकि संसद सदस्य चुने जाने के बाद उन पर यह आरोप भी लगा कि . वे सत्र के दौरान अत्यधिक अनुपस्थित रहते हैं और अपने संसदीय क्षेत्र के विकास कार्यो में उन्हें रुचि नहीं है ।

सुनीलदत्त

सुनील दत्त जी ने 1984 में कांग्रेस पार्टी के टिकट पर बम्बई के उत्तर पश्चिम लोकसभा सीट से चुनाव में विजय हासिल की थी । सुनील दत्त जी डॉ मनमोहन सिंह की सरकार में सन 2004 से 2005 तक केंद्रीय खेल युवा मंत्री भी रहे ।

दत्त साहब का जन्म पंजाब के खुर्दी नामक गाँव में हुआ था । सुनील ने मुंबई के जय हिंद कॉलेज में दाखिला लिया और जीवन यापन के लिए बेस्ट में कंडक्टर की नौकरी भी की ।

रजनीकांत

तमिल सिनेमा के सुपरस्टार रजनीकांत ने राजनीति में अपनी धमाकेदार एंट्री की है । 1996 में उनके एक बयान ने जयललिता को चुनाव हरवा दिया था । एक समय उन्होंने बस कंडक्टर का भी काम किया था । यात्रीगण रजनीकांत के खुले पैसे लौटाने के अंदाज़ से बहुत प्रभावित रहते थे । रजनीकांत खुद स्वीकार किया है कि उन्होंने शिवाजी गणेशन की नकल उतारी है

अमिताभबच्चन

इनका जन्म 11 अक्टूबर 1942 को इलाहाबाद में हुआ था । अमिताभ बच्चन अपनी दमदार आवाज़ के कारण बालीवुड के नामी अभिनेताओं में शुमार किये जाते हैं ।

एक समय अमिताभ और राजीव गांधी की दोस्ती चरम पर थीए राजीव जी ने ही अमिताभ को सक्रिय राजनीति में आने के लिए प्रेरित किया था । 1984 में वे इलाहाबाद लोकसभा सीट से चुनाव लड़े और भारी मतों से हेमवंती नंदन बहुगुणा को हराया था

जयाप्रदा

3 अप्रैल 1962 को जन्मी जयाप्रदा ने अपने पूर्व मित्र अभिनेता एन ण्टी ण् रामाराव की पार्टी तेलुगू देशम पार्टी में शामिल हुई। बाद में समाजवादी पार्टी के बैनर तले रामपुर से सांसद चुनी गई ए सम्प्रति वे भारतीय जनता पार्टी से जुड़ी हुई हैं।

जब ये छोटी थी तभी से इन्होंने फिल्मों में काम करना शुरू कर दिया था । इनका विवाह श्रीकांत नाहटा से हुआ है। ये बॉलीवुड की बेहतरीन अदाकारा मानी जाती हैं।

विनोदखन्ना

एक्टिंग की दुनिया से संन्यास लेने के बाद विनोद खन्ना ने राजनीति के क्षेत्र में श्री गणेश किया । हालांकि अन्य अभिनेताओं की तुलना में उनका राजनीतिक सफर अधिक सफल रहा था । वे सन 1997 में भारतीय जनता पार्टी में शामिल हुये थे । पहली बार वे 1998 में गुरुदासपुर संसदीय क्षेत्र से संसद के लिए चुने गए ए तदुपरांत चार बार और सांसद रहे । सन 2002 में उन्हें केंद्रीय मंत्री ; संस्कृति और पर्यटन द्ध बनाया गया था।

शत्रुघ्नसिन्हा

सिन्हा जी ने लगभग तीन दशकों तक हिंदी फिल्मों में अभिनय किया। एक्टर से राजनेता बने शत्रुघ्न सिन्हा ने अपने राजनैतिक जीवन की शुरुआत भारतीय जनता पार्टी के सक्रिय सदस्य के रूप में की थी। वे पटना साहिब लोकसभा क्षेत्र से अनेक बार सांसद रहे। वे वाजपेयी मंत्रालय में कैबिनेट मंत्री भी रहे हैं। वर्तमान में वे कांग्रेस पार्टी में हैं। सिन्हा जी लोकनायक जयप्रकाश नारायण के विचारों से खासे प्रभावित थे।

हेमामालिनी

16 अक्टूबर 1948 को तमिल परिवार में जन्मीं हेमामालिनी कान्हा की नगरी मथुरा से संसद सदस्या हैं । अपने फिल्मी जीवन के समय एक से एक बढ़कर एक शानदार फिल्मे देने वाली हेमा जी राजनीति के क्षेत्र में भी काफी सफल रही हैं। वे 2004 में भारतीय जनता पार्टी में शामिल हुई थी । 2010 में भारतीय जनता पार्टी की महासचिव बनीं। उन्होंने राजनीति के माध्यम से समाज की भरपूर सेवा की है

निष्कर्षतः यह कहा जा सकता है कि बालीवुड की दुनिया में शुमार होने के बाद उपरोक्त हस्तियों ने राजनीति के क्षेत्र में भी बुलन्दी का परचम लहराया। उन्होंने राजनीति को सेवा का पर्याय माना और उसे अमल में लाने का सराहनीय प्रयास किया है।



Loading...