7 प्रसिद्ध बॉलीवुड अभिनेता जिन्होंने सफलता पाने के लिए संघर्ष किया

Advertisements

‘सपनों की मायानगरी’ मुंबई जिसे बॉलीवुड के नाम से भी जाना जाता है। यहाँ अनेक युवा रजत पटल पर चमकता सितारा बनने का सपना लिए आते हैं। अपने सपने को पूरा करने के लिए उन्हें कठोर संघर्ष करना पड़ता है। इस संघर्ष में अनेक पराजय स्वीकार लेते हैं लेकिन कुछ ऐसे भी हैं जिन्होंने अपने संघर्ष से इस मायानगरी में अपना शीर्ष स्थान बना लिया। आज हम ऐसे ही कुछ सितारों के विषय में बताने जा रहे हैं।

  1. अमिताभबच्चन

प्रसिद्ध कवि हरिवंश राय बच्चन के यहाँ 11 अक्टूबर 1942 को जन्मे अमिताभ बच्चन का फिल्मी सफर फूलों की सेज नहीं था। इनकी पहली फिल्म ‘सात हिंदुस्तानी’ थी। यह वह समय था जब इनकी लंबाई को देखते हुए इनके साथ कोई अभिनेत्री काम नहीं करना चाहती थी। अनेक फ्लॉप फिल्मों के पश्चात ‘आनंद’ फिल्म में इन्होंने राजेश खन्ना के साथ सह-नायक का काम किया जिसके लिए इन्हें फिल्म फेयर अवार्ड मिला।

1973 में प्रकाश मेहरा ने इन्हें ‘जंजीर’ में काम दिया। वह फिल्म इनके लिए मील का पत्थर साबित हुई जिसके बाद एक के बाद एक सफल फिल्मों की लाइन लग गई और अमिताभ बच्चन ‘एंग्री यंग मैन’ की भूमिका के लिए निर्माताओं की पहली पसंद बन गए। आज वह फिल्मी दुनिया के ‘शहंशाह’ हैं।

  1. दिलीपकुमार

11 दिसंबर 1922 को पेशावर में जन्मे दिलीप कुमाार का वास्तविक नाम मोहम्मद युसुफ खान है। जिस समय इन्होंने फिल्मों में काम पाने का संघर्ष आरंभ किया उस समय इनके पास न तो वहाँ रहने के लिए घर था न फिल्म स्टूडियो तक पहुँचने के लिए पैसा। अपना खर्च चलाने के लिए इन्होंने एक आर्मी क्लब में सैंडविच बेचने के साथ-साथ सड़क के किनारे फल भी बेचे।

इनकी पहली फिल्म ‘ज्वार भाटा’ 1944 में आई। इन्होंने 65 से अधिक फिल्मों में अभिनय किया और पद्म भूषण, निशाने इम्तियाज जैसे सम्मान प्राप्त किए। आज इनका नाम किसी पहचान का मोहताज नहीं।यह फिल्मी दुनिया के ट्रेजेडी किंग हैं।

  1. देवानंद

देवानंद का पूरा नाम धर्मदेव पिशोरीमल देवानंद था। फिल्मी दुनिया के शीर्ष तक पहुँचने से पहले अनेक वर्षों तक इन्होंने क्लर्क का काम किया। इन्हें एक ‘सदाबहार अभिनेता’ के रूप में जाना जाता है लेकिन इस सफलता को पाने के लिए इन्होंने कठिन संघर्ष किया। इनकी फिल्में क्लासिक फिल्मों में गिनी जाती हैं जैसे काला पानी, हरे रामा-हरे कृष्णा, गाइड, देस-परदेस आदि।

  1. अक्षयकुमार

अक्षय कुमार उर्फ राजीव हरी ओम भाटिया जिन्हें हम ‘बॉलीवुड का खिलाड़ी’ के रूप में जानते हैं। इनके लिए भी इस शीर्ष स्थान को हासिल करना आसान न था। पैसों की कमी के कारण अभिनेता बनने से पूर्व इन्होंने वेटर, शेफ, चपरासी, सेल्समैन का काम किया। एक समय था जब निर्माता इन्हें नकार देते थे। लेकिन पराजित हुए बिना इन्होंने संघर्ष किया और अपने सपनों को पूरा किया।

  1. बोमनईरानी

चरित्र अभिनेता बोमन ईरानी के नाम से हम सभी परिचित हैं। अभिनेता बनने से पूर्व इन्होंने वेटर, रूम सर्विस स्टाफ और फोटोग्राफर के रूप में कार्य किया। हममें से बहुत कम लोग यह जानते हैं कि अपने बचपन में यह किसी भी चीज को सीखने और उच्चारण में स्पष्टता के रोग से पीड़ित थे लेकिन अपनी अक्षमता पर विजय पा आज यह सर्वाधिक माँग वाले चरित्र अभिनेता हैं। साथ ही इस बात की मिसाल है कि इंसान चाहे तो कुछ भी कर सकता है।

  1. मिथुनचक्रवर्ती

16 जून 1950 को जन्मे गौरंगो चक्रवर्ती को हम मिथुन चक्रवर्ती के नाम से जानते हैं। फिल्मों में आने से पूर्व यह एक नक्सलवादी थे। अपने भाई की मृत्यु के पश्चात इन्होंने नक्सलवाद छोड़ कर फिल्मी दुनिया में संघर्ष आरंभ किया। गरीबी, भूख आदि बाधाओं को पार कर ‘भारत के डिस्को डांसर’ बन गए।

  1. धर्मेन्द्र

फिल्मी दुनिया के ‘ही-मैन’ किसी समय प्लंबर का काम करते थे और अपनी आजीविका चलाने लायक भी न कमा पाते थे। लेकिन कठिन संघर्षों के पश्चात फिल्मों में सफलता मिलने पर फिर यह आगे बढते गए और एक्शन किंग के नाम से प्रसिद्ध हुए। अनेक पुरस्कारों के साथ इन्हें ’पद्म-भूषण’ सम्मान से भी सम्मानित किया गया।



Loading...