भारत के बारे में 10 बातें, जो किसी ने आपको नहीं बताई होगी

Advertisements

‘अद्वितीय भारत एक ऐसा देश जो अपनी खूबसूरती और मेहमान नवाजी के लिए विश्व प्रसिद्ध है। पर्यटक यहाँ आने के लिए लालायित रहते हैं। यह दुनिया का सातवाँ सबसे बड़ा और दूसरा सबसे अधिक आबादी वाला देश है। हालाँकि फिल्मों ने भारत को हमेशा गरीब और उजाड़ देश के रूप में दिखाया है, जहाँ भिखारी और रोगी भरे हैं। नई पीढी इस दाग को मिटाने का अथक प्रयास कर रही है। हम भारत के कुछ ऐसे ही तथ्यों पर नजर डालते हैं जो शायद आपने सुने न होंगे-
 
 
1. भारत की युवा शक्ति
यह एक युवा और परिपक्व देश है। यहाँ 50 प्रतिशत से अधिक लोग 25 वर्ष से कम आयु के हैं। 2ध्3 लोग 35 वर्ष से कम आयु के हैं। जिसके कारण यहाँ की युवा शक्ति बढ़ रही है। इन युवाओं के स्वप्न अलग हैं और मन म्रे कुछ कर दिखाने की चाह है। इनके विचारों से भारत भी बदल रहा है।

 
2. देश का एक भाग कर नहीं देता है
भारत एक कृषि-प्रधान देश है। यहाँ के 50 प्रतिशत लोगों का व्यवसाय कृषि और खेती है। यह देश मूल रूप से खेती और किसानी पर चलता है। और कृषि यहाँ कर मुक्त है। इसके अतिरिक्त आबादी का एक बड़ा हिस्सा शारीरिक श्रम करता है। ऐसे श्रमिकों की कमाई पर भी नजर रखना कठिन है इसलिए यह भी कर मुक्त है।

 

 
3. वेडिंग डिटेक्टिव
भारत एक ऐसा देश है जहाँ आज भी अधिकतर विवाह माता-पिता की पसंद से होते हैं। यहाँ अनेक वेडिंग डिटेक्टिव हैं। ये किसी भी माध्यम से वर और वधु के मित्रों और रिश्तेदारों से मन मुताबिक जानकारी निकाल लेते हैं और अगर माता-पिता को सभी कुछ अनुकूल मिलता है, तो वह विवाह की मंजूरी दे देते हैं।

 
4. हार्न प्लीज
भारत दुनिया का दूसरा घनी आबादी वाला देश है। जहाँ ट्रैफिक जाम एक आम बात है। यहाँ लगभग हर ट्रक और लारी के पीछे लिखा रहता है ‘हार्न प्लीज’ ऐसा इसलिए है कि ओवर टेकिंग करते समय दुर्घटना न हो। लेकिन इनके ड्राईवर लगातार अपनी उँगलियों को हार्न पर रख संकेत देते रहते हैं, जिससे ध्वनि प्रदूषण बढ़ता है।


 

5. समाचार पत्र
अधिकांश विकसित देश समाचार पत्र को छोड़ रहे हैं। सभी समाचार वह अपने स्मार्ट फोन पर पढ़ लेते हैं। लेकिन भारतीयों के दिन की शुरूआत आज भी समाचार पत्र के साथ होती है। ये समाचार पत्र विभिन्न भाषाओं में छपते हैं। भारत में समाचार पत्र खरीदना इंटरनेट की तुलना में सस्ता है। सबसे अच्छी बात यह है कि आप इसको अन्य उपयोग में भी ला सकते हैं या रद्दी में बेच सकते हैं।

 
6. फास्ट फूड
जहाँ संसार के अनेक देश फास्ट फूड और पैक्ड प्रोसेस्ड फूड का बहिष्कार कर रहे हैं। वहीं भारतीय काम पर अधिक समय दे रहे हैं जिससे उनके पास भोजन पकाने का समय नहीं है। इसलिए वह काम पर जाने से पहले खाना खरीद कर ले जाते हैं और वापस आकर डिब्बाबंद खाना खाते हैं। जिससे उनमें मोटापा बढ़ रहा है।

 

 
7. जहाँ देखो वहाँ, प्लास्टिक की कुर्सियाँ
जैसे की भारत की गलियों में कहीं भी गाय दिख जाती है। वैसे ही हर जगह जैसे घर, अस्पताल, होटल, स्कूल, कार्यालय कहीं भी प्लास्टिक की कुर्सी दिख जाएगी। हालाँकि उनके डिजाइन अलग हो सकते हैं। कोई भी उन्हें इसके उपयोग से नही रोक सकता क्योंकि सस्ती होने के साथ-साथ हल्की और टिकाऊ भी होती हैं। कोई भी इन्हें सरलता से खरीद सकता है।


 

8. जहाँ देखो वहाँ पीक
यह कुछ ऐसा है जिस पर कोई भी भारतीय गर्व नहीं करता। भारत में कभी भी कहीं भी थूक देना एक आम बात है। इसके अतिरिक्त भारतीय किसी भी स्थान को शौचालय के रूप में प्रयुक्त कर लेते हैं हालाँकि इस शर्मसार स्थिति से निबटने के लिए सरकार ने जगह-जगह शौचालय बनवाया है। लेकिन फिर भी स्थिति में कोई खास सुधार नहीं है।

 
9. अंधविश्वास
भारत का एक बड़ा हिस्सा विज्ञान के इस आधुनिक युग में आज भी शकुन-अपशकुन और अंधविश्वास पर विश्वास करता है। अमीर हो या गरीब उनके लिए रीति-रिवाज प्रमुख हैं। नई गाड़ी खरीदने पर वह माला चढ़ा कर और नारियल फोड़कर आशीर्वाद लेना आवश्यक समझते हैं

 

 
10. भारत की सड़कें
भारत एक ऐसा देश है जहाँ हर चीज अलग स्तर पर है। जो अद्भुत है। यहाँ की सड़कों पर आपको कुछ भी मिल सकता है। जैसे मोची, कान और नाक साफ करने वाले, आयुर्वेदिक डाक्टर, हड्डी विशेषज्ञ औरा फास्ट फूड की दुकानें। इसके अतिरिक्त बड़े-बड़े गड्ढे जो आपको कभी मैदान की सैर कराएँगे तो कभी पहाड़ की।



Loading...