टी.वी. कलाकारों की निजी जिंदगी से जुड़े कुछ तथ्य

Advertisements

बालीवुड और टी.वी. का रंगीन संसार सभी को सपनों की दुनिया की सैर कराता है कुछ समय के लिए वे टी.वी. पर आने वाले कार्यक्रमों में डूबकर स्वयं उन कार्यक्रमों का हिस्सा बन जाते हैं। इन कार्यकमों के कलाकार हमारे अपने परिवार का अंग बन जाते हैं। हम इनका नाम भूल इन्हें उस नाम से जानते हैं जिस नाम से वह टी.वी. पर अभिनय करते हैं। जैसे तुलसी और गोपी जैसी बहु की अभिलाषा हर सास को होती है और कहीं अक्षरा जैसी बहु-बेटी हर रिश्ते को निभाने वाली मिल जाए तो क्या कहने। लेकिन इन कलाकारों से जुड़ी कुछ ऐसी बाते भी हैं जो बहुत कम लोग जानते हैं। जैसे-

 

 

दिशा वकानी
‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ की दया जेठालाल बी गे्रड फिल्म में काम कर चुकी हैं। इस कार्यक्रम में ही वह साड़ी में दिखती है अन्यथा उन्हें अन्य कपड़े पहनने और अतरंग दृश्य देने में परहेज नहीं है।

 

 

गौतम रोडे
‘सरस्वती चन्द्र, महाकुंभ एक रहस्य, एक कहानी जैसे टी.वी. कार्यक्रम और अनर्थ फिल्म में अभिनय करने वाले गौतम रोडे को एक से बढ़कर एक घड़ियाँ एकत्र करने का शौक है।


आशका गोड़डिया
‘कुसुम’ में ‘कुमुद’ और ‘लागी तुझसे लगन’ में ‘कलावती’ का अभिनय करने वाली आशका गोड़डिया अभिनय करने से पूर्व एकता कपूर की सेक्रेटरी थी।

 

 

अली असगर
सोनी टी.वी. के कामेडी शो की दादी अली असगर ने होटल प्रबंधन की पढ़ाई की है। अपने परिवार के साथ रहने के लिए अली असगर ने होटल प्रबंधन में विदेश में मिलने वाली नौकरी को त्याग कर अभिनय की दुनिया में अपने कदम जमाए।


रागिनी खन्ना
‘ससुराल गेंदा फूल’ की सुहाना कश्यप अर्थात रागिनी खन्ना अभिनेता गोविंदा की भाँजी हैं। इन्होंने एम.काम. किया है। और अभिनय से पूर्व इन्होंने अनेक विज्ञापन संस्थानों में कार्य भी किया है। वह एक अच्छी गायिका भी हैं।

 

 

रवि भाटिया
जोधा अकबर सीरियल में सलीम का किरदार निभाने वाले एक बाक्सर हैं। इन्होंने हिमाचल प्रदेश में बाॅक्सिंग में स्वर्ण पदक जीता है।


अनस राशिद
‘दिया और बाती हम’ के सूरज ने सन् 2003 में मि. पंजाब का खिताब जीता है। पंजाब में इनका एक अपना फास्ट फूड रेस्टोरेन्ट है। इन्हें गायकी भी पसंद है।

 

 

करण कुंद्रा
यह नाम किसी पहचान का मोहताज नहीं है। यू. एस. से एम.बी.ए. किए करण का अपना एक काल सेंटर है। इन्हें लाग ड्राइव पसंद है।


रोनित राय
टी.वी. और फिल्म के प्रसिद्ध कलाकार रोनित राय की अपनी सिक्योरिटी एजेंसी है।

 

 

नंदीश संधु
‘कस्तूरी’ के ‘रौनक’ और ‘उतरन’ के ‘वीर सिंह बुंदेला’ अर्थात् नंदीश संधु का अभिनेता बनने से पूर्व फाइटर पायलट बनने का स्वप्न था। इन्होंने अभिनय से पूर्व होटल मैनेजमेंट किया और ताज होटल में काम भी किया है। इन्होंने माॅडलिंग भी की है।


दिव्यंका त्रिपाठी
‘इशिता’ अर्थात् दिव्यंका त्रिपाठी ने सन् 2005 में मिस भोपाल का खिताब जीता है। यह राइ्फल शूटिंग में स्वर्ण पदक विजेता हैं।

 

 

सौम्या टंडन
‘भाभी जी घर पर हैं’ की अनिता विभूति नारायण मिश्रा एक कलाकार होने के साथ-साथ कवयित्री भी है। इनका ‘मेरी भावनाएँ’ नामक एक कविता संग्रह भी छपा है जिसे मोदी यंग नेशनल अवार्ड भी मिला है।

 

 

आपने देखा हमारे ये पारिवारिक कलाकार अभिनय करने के अतिरिक्त भी बहुत कुछ हैं। टी.वी. के किरदारों के नाम के अतिरिक्त इनकी अपनी अलग पहचान है।



Loading...