अर्श तक पहुँची भारतीय अभिनेत्रियाँ

: 1 of 3
1
2
3
Advertisements

बालीवुड अभिनेत्रियों ने हमेशा दर्शकों के दिलों पर राज किया है। दर्शकों की जिज्ञासा हमेशा उनके विषय में अधिक से अधिक जानने की रही है। इनमें से अनेक दूसरों के लिए मिसाल बन गईं। उनमें से कुछ अभिनेत्रियाँ हैं-

 

 

काजोल
काजोल दिवंगत निर्माता निर्देशक सोमू मुखर्जी और अभिनेत्री तनूजा की बेटी हैं। इनकी पहली फिल्म बेखुदी चली नहीं लेकिन आलोचकों को उनका अभिनय पसंद आया। काजोल की पहली हिट फिल्म बाजीगर थी। यह बालीवुड की अकेली ऐसी अभिनेत्री हैं जिन्हें नकारात्मक रोल के लिए फिल्मफेयर अवार्ड मिला। काजोल नूतन के बाद दूसरी ऐसी अभिनेत्री हैं जिन्हें पाँच फिल्मफेयर बेस्ट एक्ट्रेस अवार्ड से सम्मानित किया गया।

 

 

सुष्मिता सेन
सुष्मिता सेन ने 1994 में मिस इंडिया और ब्रह्माण्ड सुंदरी का खिताब जीत बालीवुड में प्रवेश किया। हमारे समाज में जहाँ खून के रिश्तों को सर्वोपरि माना जाता है वहाँ सुष्मिता सेन ने साहसिक कदम उठाते हुए दो लड़कियों को गोद लिया। वह एकल माता के रूप में अपनी पालिता पुत्रियों को समाज में उच्च मुकाम देने का प्रयास कर रही हैं। सुष्मिता सेन एक ऐसी महिला हैं जिन्होंने समाज की बंदिशों को तोड़कर लोगों को एक नई राह दिखाई।


प्रियंका चोपड़ा
सन 2000 में मिस वर्ल्ड का खिताब जीतने के बाद हिन्दी फिल्मों मे ‘द हीरो-लव स्टोरी आफ अ स्पाई’ से हिन्दी फिल्मों में अपने कैरियर की शुरूआत की। इसके बाद इन्होंने कई हिट फिल्मों में काम किया जिसमें इनके अभिनय की आलोचकों ने प्रशंसा की। फिल्म ‘फैशन’ में निभाए किरदार के लिए इन्हें सर्वश्रेष्ठ फिल्म अभिनेत्री के राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया गया। आज प्रियंका भारतीय फिल्मों के साथ-साथ विदेशी फिल्मों में भी अपने अभिनय के जलवे बिखेर रही हैं।

 

 

कंगना रनौत
हिन्दी फिल्मों की एक प्रसिद्ध अभिनेत्री है। 2014 में आई फिल्म ‘क्वीन’ के इनके अभिनय के कारण इन्हें बालीवुड की क्वीन भी कहा जाता है। स्पष्टवादिता की इनमें कमी नहीं है। इन्होंने कभी भी किसी से डर कर अपने वक्तव्य को नहीं बदला। बालीवुड में भाई-भतीजावाद का विरोध करने में भी आगे रहीं। निश्चित रूप से वह एक साहसी महिला हैं।

Advertisements
: 1 of 3
1
2
3


Loading...